Born|raised|transferred's PhotoBlog

ये घनी तन्हाइयो को गुमनाम रहने दो मेरे माज़ी को अंधेरे में दबा रहने दो दिल सख्त है, नज़रे स्थिर है, हादसे नए है, हक़ीक़त यही है, यही होता है, आख़िर यही होता…

वह क्या मज़बूरिया रही होंगी... समझने की कोशिश की एक वक़्त तक किस्मत कहु या बदकिस्मती, जानती नहीं सच्च ये हैं की मैंने तुम्हें खो दिया हैं... हालात कुछ ऐसे हैं, बय…

There is a void in my chest. I can't sleep these days. My mind is screaming at me about everything. ————————————————————————————————— [Drafts] Sept, 2018 …

Being A - Political? Horrified to see unwanted rage and hatred spread on social media. But some are living in their own bubble, aren't they? Tell me, how can…

वीरता, दृढ़ता; ये दो शब्द के मेल थे वो ठीक एक साल पहले दादाजी ने अलवीदा कहा उनके चले जाने के बाद लोग अब लोग नहीं घर अब घर नहीं... उन्हें घूमने का बहुत शौक़…

ऐसा क्यों हो रहा हैं? मै खुद से हैरान हूं ये एहसास बहुत अजीब हैं.. दिल भरा सा खाली सा हैं.. आधी रात को मन कुछ डूब सा जाता हैं मैंने तुमसे कहा था, ले चलो अपने स…

It's okay to be chaotic. Cluttered. Messy, disarranged. Confused. Sometimes it's okay to lay in bed and do nothing all day. It's okay to stumble upon…

WELCOME TO THE ZOO. AKA JAIL. AKA AWWA WOMEN HOSTEL :') —————————————————————————————————— I believe people teach you the best of the things. …
Loading...
Up
Copyright @Photoblog.com